रंगकर्मी परिवार मे आपका स्वागत है। सदस्यता और राय के लिये हमें मेल करें- humrangkarmi@gmail.com

Website templates

Thursday, November 27, 2008

इश्क की लत

कहते है आदते बदली जा सकती है जो कोई जिद्द पे उतर आए ये नामुमकिन है एक बार गर किसी को इश्क की लत लग जाऐ

4 comments:

अशोक कुमार पाण्डेय said...

बढिया..........

पुरुषोत्तम कुमार said...

बात तो आपकी एकदम ठीक है।

yadein said...

अच्छा लिखा है आपने।

Vinaytosh Mishra said...

kya baat hai...badhiyan

सुरक्षा अस्त्र

Text selection Lock by Hindi Blog Tips