रंगकर्मी परिवार मे आपका स्वागत है। सदस्यता और राय के लिये हमें मेल करें- humrangkarmi@gmail.com

Website templates

Friday, February 20, 2009

पत्नी की आरती

आज बंडमरु गिरी करने का मन किया है। शुरुआत कर रहा हूँ पत्नी की आरती से .... मुझे मेरे मित्र ने मुझे एक मेल किया उस मेल को मैं यथावत आपके सामने परोस रहा हूँ... मुझे आच्छा लगा आपको भी आच्छा लगेगा। ऐसा विश्वाश है। आप अपनी राय जाहिर करें... कैसा लगा......धन्यवाद ।

2 comments:

Beautiful Nature said...

itni buri bhi nahi hai aurtein jitne aapke dost de is article mein dikha di.. ask ur friend jo kuch bhi unhone isme lika hai kya wo sab kuch apni patni ke liya karte hai? aur agar wo karte hai to mein unhe duniya ka sabse acha pati hone ke khitab se nawazna chahungi...

Nalin Mehra said...

behtar prastutikaran ke liye badhai swikar karein.....
aapke mitr se kahiyega ki ham unke dard ko bakhubi samjte thain

सुरक्षा अस्त्र

Text selection Lock by Hindi Blog Tips