रंगकर्मी परिवार मे आपका स्वागत है। सदस्यता और राय के लिये हमें मेल करें- humrangkarmi@gmail.com

Website templates

Friday, May 9, 2008

मन में उमंग

पानी में तरंग मन में उमंग प्रेम की पतंग उठने दो रिमझिम बरसात धडधड प्रपात मनका अवसाद गिरने दो रात की बात सपनों का साथ हाथों में हाथ रहने दो वीणा झंकार विविध प्रकार सपनें साकार होने दो

4 comments:

Keerti Vaidya said...

रात की बात
सपनों का साथ
हाथों में हाथ
रहने दो

sweet lins.....

Pintoo said...

Jab Koi Bat Bigad Jaye to Dena Satha mera

seema gupta said...

पानी में तरंग
मन में उमंग
प्रेम की पतंग
उठने दो
"bhut sunder"

Naveen Bhagat said...

Ms Joglekar, it can't only be your experience that makes you express everything so well measured and beautiful.. Hope it says all

सुरक्षा अस्त्र

Text selection Lock by Hindi Blog Tips